चार वर्षो से पुलिस की कैद में भारतमाता ,कब होगी रिहाई

by- satish mishra-9425682362-seoni m.p india

सिवनी-वीर महापुरूष जीवनी अनुसंधान सेवा समिति सिवनी के तत्वाधान में 18 जून प्रातः 11 बजे झॉंसी की रानी लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस के अवसर पर सर्वधर्म के प्रतीक चिन्ह एवं भारत माता की मूर्ति की स्थापना हेतु भूमिपूजन किया किया गया।
मुख्यालय से लगभग 10 किलोमीटर दूर एनएच 07 पर स्थित बघराज ग्राम से गोपालगंज के बीच मजार के पास संस्था के संस्थापक विपतलाल विश्वकर्मा एवं चारो धर्म के धर्मगुरूओं में पंडित आर.पी.पांडे,मिर्जा हाशिम बेग,ज्ञानी जी एवं फादर रेव्ह.एम.के.जोन के अलावा रामकुमार विश्वकर्मा,बाबूलाल विश्वकर्मा राजेश पटेल गोविन्द श्रीवास की उपस्थिती में 5 टन वजनी एवं 10 फिट उॅंची भारत माता की प्रतिमा की स्थापना हेतु भूमिपूजन किया गया।
इस संदर्भ में संस्था के संस्थापक ने संवाद दूत से संक्षिप्त भेंट में बताया कि बहुत साल पहले मैने सुना की अपनी मातृभूमि को अंग्रेजो के चंगुल से छुडाने लिए सैकडो देश भक्तो ने अपनी मातृभूमि के लिए अपना बलिदान दे दिया ऐसे शहीदों की आकृति अपने रक्त से बना डाली तो मुझे लगा मुझे भी कुछ करना चाहिए तो मैने शहीदों की फोटो इकटठा करना प्रांरभ किया और लगभग 400 फोटो का अपने घर में संग्रहालय बना लिया जिसके बाद मैने भारत माता की प्रतिमा की स्थापना करने का संकल्प लेकर 5 टन वजनी और 10 फिट उॅंची प्रतिमा का निर्माण करा कर मरझोर ग्राम के शेरसिंह सनोडिया से चंर्चा कर जहां उन्होने कहां उस स्थान पर उस मूर्ति को स्थापित कर दिया गया जिसके बाद नगर के ही दुर्गाशंकर श्रीवास्तव ने व्यवधान पैदा कर उस मूर्ति को उस स्थान से हटवा दिया गया। उस दौरान भारतमाता की मूर्ति का अपमान किया गया जिसके बाद पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मूर्ति को सुरक्षित पुलिस थाना कोतवाली में दिनॉंक 14 अगस्त 2017 से रखा गया है तब से अब तक भारतमाता पुलिस थाना कोतवाली सिवनी में कैद है। जिसे नये स्थान पर स्थापित करने के लिए संस्था प्रमुख ने नागपुर रोड में जमीन स्वयं के खर्चे से खरीदकर उस स्थान पर मूर्ति के अलावा सर्वधर्म के चिन्हो के साथ लगभग 100 देश भक्त शहीदों की संगरमर की मूर्ति लगाने का संकल्प लिया है। आगे संस्थापक ने बताया कि इस विषय में पूर्व जनप्रतिनिधियों से और प्रशासन से इस संबंध में चर्चा की गई लेकिन किसी ने भी इस मामले को गंभीरता से नही लिया इस कारण भारत माता आज तक पुलिस की कैद में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here