मंडला: मंडला जिले में लगातार वन्य प्राणियों का शिकार किया जा रहा है। वन विभाग द्वारा कार्रवाई भी की जा रही हैं लेकिन वन्य प्राणियों के शिकार का क्रम जारी है। ताजा मामला बहमनी वन क्षेत्र का हैं, जहां वन विभाग को बड़ी सफलता मिली हैं जिसमें चीतल के शिकारियों को गिरफ्तार किया गया हैं।
ताजा मामला झान्गुल गांव क़ा हैं। जहां चीतल के शिकार के लिए शिकारियों ने बिजली के करंट का सहारा लिया। शिकारियों ने जंगल में बिजली की तारें बिछाई दी जिसकी चपेट में आने से चीतल को करंट लगा और मौत हो गई। सोची समझी साजिश के तहत मौत के बाद इसी गांव में इस चीतल को आधा काटकर बेच दिया था और आधे को बेचने की तैयारी की जा रही थी। मुखबिर क़ी सूचना पर बहमनी वन परिक्षेत्र के लोग घटना स्थल पर पहुंचे और घटना स्थल से एक आरोपी जो मंडला उमरिया गांव क़ा हैं उसे गिरफ्तार किया।
आरोपी ने सख्ती से पूछने पर अन्य 8 आरोपियों के नाम सामने आए जो कि बालाघाट के खैर लान्झि के बताये जा रहें हैं। आरोपी ने बताया कि उन्होंने आधा मांस बेच दिया था और मांस बेचने क़ी फिराक में थे। आरोपियों के पास से चीतल क़ा बचा हुआ मांस, सींग और अन्य सामान बरामद किया हैं। इन 8 आरोपियों को जिला न्यायालय में पेश किया गया जहां वन अधिनियम के तहत सभी को जेल भेज दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here