पानी की समस्या से जूझ रहे घौंटी ग्राम वासी

0
104

सिवनी-जहां देश भर में सरकार के द्वारा जनसुविधाओं और देश की प्रगति के लिए कई सारी जनकल्याणकारी योजनायें चलाई जा रही है जिसमे अरबो रूपये खर्च किए जा रहे है तो वही जिले से लगभग 13 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत दिघौरी अंर्तगत घौंटी ग्राम में पानी की समस्या आये दिन होती रहती है जिसके निराकरण के लिए आज तक किसी तरह के कोई कदम नही उठाये गये इसी कारण ग्रामीणों को एक-एक किलोमीटर दूर से ग्रामीणों को पीने और निस्तार योग्य पानी कोई सिर पर तो कोई साईकिल से तो कोई मोटरसाईकिल से कई किसान अपने ट्रैक्टर में पानी की 15 लीटर की कैन भरकर लाने मजबूर हो रहे है।
हैंडपंप के पास गंदगी भरी जगह से पानी लाने मजबूर-सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम में और भी हैंडपंप है लेकिन सारे हैंडपंपो से पानी बहुत कठीनाई से आता है लेकिन हैंडपंप जो ग्राम से लगभग एक किलोमीटर दूर है वह हैंडपंप हल्का चलता है जिसकी वजह से ग्राम की महिलायें बच्चे और सभी लोग इसी जगह से पानी लाने को सही समझते है जहां पर नल के पास गंदगी भरी जगह से पीने का पानी ला कर पीने को मजबूर है। एक तरफ सरकार साफ-सफाई को लेकर कई सारे जनकल्याणकारी कार्यक्रम चला रही है लेकिन यहां पर आज भी ग्रामीण समय आने पर दूषित पानी पीने मजबूर है।

आए दिन होती है पानी की समस्या – आये दिन ग्राम में पानी की समस्या होती है कभी मोटर जल जाने की तो कभी स्टार्टर के ख़राब हो जाने के कारण जलापूर्ति बाधित होने की बात सामने आती है तो कभी बिजली की कटौती के कारण इन तमाम सारी समस्याओ के चलते हफ्तों ग्रामीणों को एक एक किलोमीटर दूर से निस्तार और पीने के लिए दूषित पानी लाकर पीने को मजबूर है जिसमे चाहे महिलाए हो बुजुर्ग हो चाहे बच्चे सब पानी लाते है।
कई वर्षो से टंकी की भी नही हुई है सफाई-ग्राम में जलापूर्ति हेतु एक मात्र टंकी निर्माण हुआ था जिससे पूरे ग्राम की जलापूर्ति होती है लेकिन उस टंकी में टक्कन नही है साथ ही टंकी सफाई भी वर्षो से नही हुई है जिस कारण ग्रामीण चाहे हैंडपंप हो या टंकी सभी का पानी दूषित पानी की आपूर्ति की जा रही है।
ग्रामीणों ने प्रशासन से मांग की है कि जहां पर हैंडपंप है वहां पर पक्का निर्माण कराने और ग्राम में जिस टंकी से जलापूर्ति होती है उस टंकी के ठक्कन और सफाई कराने की मांग जनहित में की है ताकि ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल की जलापूर्ति की जा सके और ग्रामीण किसी गंभीर बीमारी की चपेट में आने से बच सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here