फर्जी हाजिरी लगा लाखों रुपयों का हेरफेर – राजेश पटेल

Spread the love

BY – SATISH MISHRA
CONTACT US – 9425682362,9303282362
EMAIL – [email protected]
SEONI M.P INDIA
सिवनी { SAMVADDOOT } – सिवनी के विपणन विभाग में अनाज भंडारण अनाज की सुरक्षा में करोड़ो रुपयों के घोटाले सिद्ध होने लगे है।यहाँ पर विशेष उल्लेखनीय यह है कि यहाँ पदस्थ संविदा कर्मी दिलीप अवधिया जो सहायक क्षेत्रीय सहायक के पद पर 1999 से सेवाएं दे रहे थे वर्ष 2013 के धान भंडारण में 3 करोड़ 92 हजार की प्रचलित ब्याज दर में वसूली के साथ नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है वहीं इन पर राजेश पटेल द्वारा लगाए अन्य कई आरोपों की जाँच होना बाकी है। राजेश पटेल ने अनाज सुरक्षा में लगे गार्डो व कम्प्यूटर्स ऑपरेटर के नाम फर्जी हाजिरी भरकर लाखों रुपयों की गड़बड़ी के आरोप लगाए है जिसमें संबधित सिक्युरिटी कंपनी व विपणन अधिकारी की भी साँठगाँठ रही है। राजेश पटेल ने उक्त फर्जी हाजिरी मामले में संबधित फर्जी हाजिरी कर्मियों के नाम से फर्जी बैंक अकाउंट खाता खोल भुगतान लिए जाने की भी शंका जाहिर की है। वही 2019 में बगैर ro/do के हजारों मीट्रिक टन धान राइस मिल मालिकों को बेचने का आरोप लगाया है जिसकी विभागीय जांच उपरांत विपणन अधिकारी शिशिर सिंहा सहित लेखाधिकारी दीपक साहू व मीलिंग प्रभारी सहायक राहुल वाड़ीवा को निलंबित कर जबलपुर कार्यालय अटैच कर दिया गया है उक्त चारों कर्मचारियों पर विभागीय कार्यवाही जाँच पड़ताल उपरांत सचिव विपणन विभाग के आदेश से की गई है।
संयुक्त किसान मोर्चा सयुंक्त किसान समन्वय संघर्ष समिति, सिवनी के तमाम पदाधिकारियों ने उक्त मामले पर विगत दिनों आंदोलन की रणनीति तैयार कर निष्पक्ष जाँच की मांग वरिष्ठ महा प्रबधक जो की पूर्व में सिवनी कलेक्टर रहे है पी नरहरि से की थी ।
अभी उक्त विभाग में कई अनियमितताओं की पोल खुलना बाकी है जिसमे भण्डारित अनाज को सड़ाने कर्मचारियों के द्वारा 4 लाख रुपये से अधिक राशि का पानी का बोर मोटर लगाया जाना पानी के टैंकरों से मजदूरों के पीने का पानी का बहाना बनाकर अनाज को सड़ा कर बेचे गए अनाज की कमी खाना पूर्ति करना नए तिरपाल टोपी बेचकर पुरानी को रिकार्ड में जमा करवाना, ट्रांसपोर्टर के साथ मिलकर मोटा कमीशन के चक्कर मे उपार्जित अनाज को उपार्जन केंद्रों में सड़ा देना आदि आदि है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *