भारत मां की तरफ आंख उठाकर देखने वालों को जवाब देकर शहीद हुए 20 जांबाज – नरेंद्र मोदी

0
40

नई दिल्ली: सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि हमारी एक इंच जमीन भी कोई नहीं ले सकता. उन्होंने कहा कि हमारे किसी पोस्‍ट पर दूसरे का कब्‍जा नहीं है. कोई भी हमारी एक इंच जमीन पर आंख उठाकर नहीं देख सकता. पीएम ने कहा कि पहेल उधर के सैनिकों को कोई नहीं रोकता था, लेकिन अब रोकने पर तनाव बढ़ा है. वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है साथ ही बॉर्डर पर निर्माण कार्य तेजी से चलेगा.
पीएम ने कहा कि मैं आप सभी को और सभी राजनीतिक दलों को ये विश्वास दिलाता हूं कि हमारी सेना किसी भी जवाबी कार्रवाई के लिए सक्षम है. आप सभी ने जो विचार रखे हैं वह बहुत महत्वपूर्ण हैं. हम सभी देश की सीमाओं की रक्षा में दिन रात लगे हैं. हमारे वीर जवानों के साथ चट्टान की तरह खड़े हैं. उनकी वीरता उनके कौशल उनकी सूझबूझ पर देश अटूट विश्वास रखता है.
पीएम ने कहा कि इस सर्वदलीय बैठक के माध्यम से शहीदों के परिवारों को भी यह विश्वास दिलाता हूं पूरा देश उनके साथ है. पूरा देश उनको नमन करता है. पूर्वी लद्दाख में जो हुआ है उसको लेकर रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री को सुना भी और प्रेजेंटेशन को भी देखा. न वहां कोई हमारी सीमा में घुसा है और न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है.
प्रधानमंत्री ने कहा कि लद्दाख में हमारे 20 जवान शहीद हुए लेकिन, जिन्होंने भारत माता की तरफ आंख उठाकर देखा था उन्हें वह सबक सिखा कर गए हैं. उन्होंने कहा कि यश और यह बलिदान हमेशा रहेगा. निश्चित तौर पर चीन द्वारा जो एलएसी पर किया गया उससे पूरा देश आक्रोशित है. यह भावना हमारी इस चर्चा के दौरान भी आप सब के माध्यम से बार-बार प्रकट हुई है.
पीएम ने कहा कि हमारी सेना देश की रक्षा में कोई कसर नहीं छोड़ रही है. जल, थल और नभ में देश की रक्षा के लिए जो करना है वह हमारी सेनाएं कर रही हैं. आज हमारे पास यह कैपेबिलिटी है कि कोई भी हमारी तरफ आंख उठाकर नहीं देख सकता. आज भारत की सेनाएं हर सेक्टर में एक साथ मूव करने में पूरी तरह सक्षम हैं.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने जहां एक तरफ सेना को अपने स्तर पर उचित कदम उठाने की छूट दी है वहीं दूसरी तरफ डिप्लोमेटिक माध्यमों से भी चीन को अपनी बात दो टूक स्पष्ट कर दी है. भारत शांति चाहता है. बीते 5 वर्षों में देश ने अपनी सीमाओं को सुरक्षित करने के लिए बॉर्डर एरिया में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट को प्राथमिकता दी है. हमारी सेनाओं की दूसरी आवश्यकता हो जैसे कि फाइटर प्लेन, आधुनिक हेलीकॉप्टर, मिसाइल, डिफेंस सिस्टम आदि पर भी हमने बहुत बल दिया है.
उन्होंने कहा कि नए बने हुए इंफ्रास्ट्रक्चर की वजह से खासकर LAC पर हमारी पेट्रोलिंग की कैपेसिटी बढ़ गई है. LAC पर हो रही गतिविधियों के बारे में भी समय पर पता चल रहा है. जिन क्षेत्रों पर पहले बहुत नजर नहीं रहती थी अब वहां भी हमारे जवान अच्छी तरह से मॉनिटर कर पा रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here