मध्यप्रदेश के उपचुनाव में कांग्रेस सरकार करेगी वापसी:मधु भगत

0
66

(10 दिनों से अनूपपुर में कर रहे सघन जनसम्पर्क)
बालाघाट।[ब्रजेश मिश्रा ब्यूरो चीफ ]- परसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक मधु भगत जो विगत 10 दिनों से अनूपपुर विधानसभा सीट में कांग्रेस उम्मीदवार के समर्थन में लगातार नुक्कड़ सभा, कार्यकर्ताओं की बैठक आदि कार्यक्रमों में भाग लेकर कांग्रेस के बड़े मतों की जीत के लिये स्थानीय कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर डोर टू डोर सघन जनसम्पर्क करते हुए आमजनता तक उपचुनाव किनके बिकने के कारण हो रहा है, किस तरह से यह चुनाव जनता पर थोप कर शासन को करोडों रूपयों का अतिरिक्त बोझ डाला गया इत्यादि विषय लेकर जनता से प्रत्यक्ष चर्चा कर कांग्रेस उम्मीदवार विश्वनाथ गुंजाम के समर्थन में वोट मांगने का काम कर रहे है।
भगत के अनुसार अनूपपुर में जिस तरह से क्षेत्र के पूर्व विधायक और भाजपा के हाथों अपने को बेचने वाले बिसाहूलाल साहू के खिलाफ जमीनी स्तर पर जो आक्रोश है वह साफ दिखाई पड़ रहा है यही कारण है कि वह सरे आम नोट बांटते हुए कैमरे में कैद हो गये। इतना ही नहीं उनको चुनाव प्रचार में भी जनता की तरफ से खरी खोटी सुनाई जा रही है। 2018 में कांग्रेस से चुनाव लड़कर जीतने वाले 2020 में भाजपा उम्मीदवार बनकर फिर क्षेत्रीय जनता से समर्थन मांगने वाले भाजपा के सौदेबाजी के शिकार बिकाऊ प्रवृति के 25 विधायकों को अपने अपने क्षेत्र में इसी प्रकार के तीखे सवालों का सामना करना पड़ रहा है यही कारण है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान और दूसरे भाजपा नेता घटिया स्तर की बयानबयाजी पर उतारू हो गये है ताकि बेतुकी बातें करके जनता को गुमराह किया जाय पर जब जनता पर उनकी बातों का असर नहीं हो रहा है तो यह प्रशासन का सहयोग लेकर अनेक स्थानों पर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को प्रताडि़त कर रहे है झूठे मामलों में फंसा रहे हैै। इस प्रकार की हरकत करके भाजपा यह साबित कर रही है कि उपचुनाव में उसका पक्ष कमजोर है। भगत ने कहा कि जिस तरह से प्रदेश में कांग्रेस सरकार को गिराया गया वह हर दृष्टिकोण से गलत था और जनता इस गलती की सजा आने वाले 03 नवम्बर को कांग्रेस के पक्ष में भरपूर मतदान करके पुन: प्रदेश में कांग्रेस सरकार को वापस लायेगी। इसमें कोई दो मत नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की सभाओं में उमडऩे वाली भीड इस बात का संकेत है कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार को गिराने का निर्णय हरतरह से गलत अनुचित व न्यायसंगत नहीं था। भाजपा के पास जनता की अदालत में अपनी बात रखने का कोई ठोस आधार नहीं है इसलिये वह व्यक्तिगत छिंटाकसी करके चुनाव का रूख मोडऩे में लगी हुई है। मेरे द्वारा अनूपपुर के अनेकों ग्रामों में भ्रमण कर आमजनता के साथ पार्टी कार्यकर्ताओं से प्रत्यक्ष चर्चा कर इसी निष्कर्ष में पहुंचा हूं कि कांग्रेस अनूपपुर सीट भारी बहुमतों से जीतेगी। कांग्रेस भाजपा के द्वारा उत्पन्न सभी राजनीतिक चुनौतियों का कार्यकर्ताओं के मजबूत मनोबल के आधार पर डंके के चोट पर जवाब दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here