सिवनी : मनरेगा अंतर्गत 1 लाख 11 हजार 934 श्रमिकों को मिला रोजगार

0
173

सिवनी : कोरोना वायरस के वैश्विक संकट के समय जहाँ जिला प्रशासन पूरी मुस्तैदी से आमजनों सुरक्षा हेतु इसकी रोकथाम की दिशा में कार्य कर रहा है, वहीं दूसरी ओर जरूरतमंदों के लिए सभी आवश्यक सुविधाओं की उपलब्धता हेतु जिला प्रशासन द्वारा कार्यवाहियां की गई हैं।

इस संकट की घड़ी में प्रभावित हुए प्रवासी श्रमिकों को बड़ी राहत देते हुए जिला प्रशासन द्वारा महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना तहत कार्य प्रदान कर उन्हें आर्थिक रूप से सहायता प्रदान की है. कलेक्टर डॉ.राहुल हरिदास फटिंग के निर्देशन में जिले के सभी विकासखण्डों में मनरेगा तहत कार्य संचालित है।-

जिसमें प्रमुख रूप से जल संरक्षण एवं संवर्धन के कार्य सम्मिलित हैं । वर्तमान में सिवनी जिले के आठों विकासखण्ड में कुल 5093 कार्य संचालित हैं तथा इनमें 1 लाख 11 हजार 934 श्रमिक कार्य कर रहे हैं । जो इस वैश्विक संकट के समय उल्लेखनीय है । वर्तमान में सिवनी जिला मनरेगा तहत कार्य कराने में तृतीय स्थान पर है।

जिले में संचालित मनरेगा कार्यो में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ ही सभी श्रमिकों के लिए सेनिटाईजर एवं साबुन की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है । सभी श्रमिकों द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क एवं गमछे का उपयोग किया जा रहा है ।

वर्तमान में जनपद पंचायत बरघाट के 90 ग्राम पंचायतों में 13 हजार 227 , जनपद पंचायत छपारा के 54 ग्राम पंचायतों की 15 हजार 110 , जनपद पंचायत धनौरा के 47 ग्राम पंचायतों की 7 हजार 435, जनपद पंचायत घंसौर के 77 ग्राम पंचायतों की 13 हजार 54, जनपद पंचायत केवलारी की 78 गाम पंचायतों के 18 हजार 635, जनपद पंचायत कुरई 62 ग्राम पंचायतों की 12 हजार 565, जनपद पंचायत लखनादौन की 108 ग्राम पंचायतों के 15 हजार 985 एवं जनपद पंचायत सिवनी की 129 ग्राम पंचायतों के 15 हजार 923 श्रमिक कार्यरत हैं। इस प्रकार जिले की कुल 645 ग्राम पंचायत में कुल 111934 श्रमिक कार्यरत हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here