50 लाख की ठगी का आरोपित अर्थनिधि कंपनी का संचालक गिरफ्तार

0
25

कई लोगों से 50 लाख रुपये की ठगी के फरार आरोपित अर्थनिधि कपंनी के संचालक अशोक चौधरी को डूंडासिवनी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मुखबिर की सूचना पर बाहर भागने की फिराक में घूम रहे आरोपित को पुलिस ने शहर के बस स्टैंड से पकड़ा।
सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कई लोगों से 50 लाख रुपये की ठगी के फरार आरोपित अर्थनिधि कपंनी के संचालक अशोक चौधरी को डूंडासिवनी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मुखबिर की सूचना पर बाहर भागने की फिराक में घूम रहे आरोपित को पुलिस ने शहर के बस स्टैंड से पकड़ा। आरोपित के मकान, जमीन, जेवरात व अन्य 2.14 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई है।
मिली थी शिकायतः डूंडासिवनी थाना प्रभारी देवकरण डेहरिया ने बताया कि बीते सप्ताह 2 दिसंबर को भादूलाल इड़पाचे व अन्य लोगों ने शकिायत दी थी। इसमें उन्होनें बताया था कि अर्थनिधि लिमिटेड कंपनी के संचालक अशोक चौधरी द्वारा दूसरे बैंको की तुलना में ज्यादा ब्याज दिलाने के नाम पर 50 लाख रुपये जमा कराये थे। साथ ही अशोक चौधरी ने कम समय में रुपये दोगुना करने का लालच दिया था। नियत समय बीत जाने के बाद जब वह रुपये लेने पहुंचे तो अशोक चौधरी बैंक बंद कर भाग गया था। इस शिकायत के बाद आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश शुरू की गई।
घर पर दी थी दबिशः शिकायत के बाद पुलिस ने कई बार आरोपित के घर पर दबिश दी थी। हर बार आरोपित घर पर नहीं मिला था। इसके बाद से आरोपित की तलाश लगातार की जा रही थी। शुक्रवार को मुखबिर से पुलिस को सूचना मिली कि आरोपित बस स्टैंड क्षेत्र में घूम रहा है। इस पर पुलिस ने घेराबंदी करते हुए उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। यहां से उसे जेल भेज दिया गया है।
ये संपत्ति जब्तः एसपी कुमार प्रतीक ने बताया कि आरोपित अशोक चौधरी का करीब 50 लाख रुपये कीमत का तीन मंजिला मकान व 1.50 करोड रुपये कीमत की गोपालगंज में स्थित 2.5 एकड़ जमीन के दस्तावेज, 1.5 लाख रुपये कीमत का सोने का हार, 6 लाख रुपये कीमत की कार व 7 लाख रुपये कीमत के शेयर आदि संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई की गई है। इसमें डूंडासिवनी थाना प्रभारी देवकरण डेहरिया, एएसआई पीएल देशमुख, प्रधान आरक्षक भास्कर राउत, नितिन तुमराम, महिला आरक्षक पूर्णिमा रंगारे, आरक्षक मुकेश गोनदाने, मनोज मरावी, राकेश त्रिवेदी, एजाज खान, विवेक बाथरे, सुनील भरके व शेखर बघेल का योगदान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here