BS-4 वाहनों को लेकर SC का बड़ा फैसला, 31 मार्च के बाद बिके वाहनों का नहीं होगा रजिस्ट्रेशन

0
178

सुप्रीम कोर्ट ने कार ऑटो कंपनियों को बड़ा झटका देते हुए 31 मार्च के बाद बिके वाहनों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लगा दी है।
देश में 1 अप्रैल से ही BS-6 मानक लागू हो चुका है और इसकी वजह से BS-4 मानक के इंजन वाले वाहनों पर रोक भी लगा दी गई थी। इसके बाद अब सर्वोच्च न्यायालय ने अब BS-4 वाहनों के रजिस्ट्रेशन को लेकर बड़ा झटका दिया है और 27 मार्च को दिया अपना आदेश वापस ले लिया है। इस आदेश में सर्वोच्च न्यायालय ने वाहन कंपनियों को 31 मार्च के बाद भी वाहन बेचने की अनुमति दी थी। लेकिन अब कोर्ट ने अपने इस फैसले को वापस लेते हुए तय मानक से ज्यादा वाहन बेचने पर कंपनियों और ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन को फटकार लगाई है। कोर्ट के इस कदम के बाद अब 31 मार्च के बाद बिके किसी भी BS-4 मानक वाले वाहन का रजिस्ट्रेशन नहीं हो सकेगा।
कोर्ट ने अपना फैसला वापस लेते हुए कहा कि एक तय संख्या में वाहन बेचने की मंजूरी दी गई थी लेकिन कंपनियों ने इसका गलत फायदा उठाया। ऐसे में हम अपना पुराना फैसला वापस ले रहे हैं। मामले में अगली सुनवाई 23 जुलाई को होगी।
31 मार्च के बाद गाड़ी खरीदनों वालों का क्या
सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद उन लोगों को बड़ा झटका लगा है जिन्होंने 31 मार्च के बाद वाहन खरीदे हैं। फैसले को देखें तो साफ है कि जिन लोगों ने 31 मार्च के बाद BS-4 मानक वाले वाहन खरीदे हैं उनका रजिस्ट्रेशन नहीं होगा। अगर वाहन 31 मार्च से पहले बिका है तो ही रजिस्ट्रेशन होगा। हालांकि, फिलहाल यह साफ नहीं है जिन वाहनों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है उनका क्या होगा।
यह था वो फैसला
दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने 27 मार्च को सुनाए अपने फैसले में कार कंपनियों को 10 दिन की मोहलत दी थी ताकि वो BS-4 वाहन बेच सकें। लेकिन अब सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है कि उसके आदेश के साथ फ्रॉड हुआ है और ऐसे में 27 मार्च का आदेश वापस ले लिया गया है।
क्या है भारत स्टेज (BS) मानक
BS यानी भारत स्टेज मोटर वाहनों से होने वाले प्रदूषण तय करने का मानक है। यह प्रदूषण के स्तर को दर्शाता है। जिस वाहन का BS नंबर जितना ज्यादा होगा, उससे उतना ही कम प्रदूषण होगा। यानी BS-4 की तुलना में BS-6 के वाहन हवा में कम प्रदूषण फैलाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here