भाजपा इन परिणामों को अपनी बड़ी कामयाबी इसलिए भी बता रही है कि जब यह चुनाव हुए और परिणाम आए तब देश में किसान आंदोलन चल रहा था और कांग्रेसी भी इन कृषि बिलों के खिलाफ है।
Rajasthan Panchayat Chunav Results: राजस्थान में पंचायत चुनावों का पूरा नतीजा सामने आ गया है।चुनाव आयोग के मुताबिक, इस बार 636 जिला परिषद के सदस्यों के चुनाव हुए थे, इनमें 353 पर भाजपा, 252 पर कांग्रेस, 10 पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी, 18 पर निर्दलीय और 2 सीटों पर माकपा प्रत्याशी जीते हैं। वहीं पंचायत समिति की 4371 सीटों में से कांग्रेस ने 1799 जीती तो भाजपा ने 1932 सीटों पर कब्जा जमाया है। निर्दलीयों के हाथ में 429 सीटें लगीं, जबकि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी को 60 सीटों पर जीत मिली। भाजपा जहां चुनाव परिणाम से खुश है, वहीं कांग्रेस खेमे में निराशा का माहौल है। माना जा रहा है कि परिणामों के बाद कांग्रेस में असंतोष बढ़ सकता है और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार को खतरा हो सकता है। वैसे भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भाजपा पर आरोप लगा चुके हैं कि उनकी सरकार को गिराने की कोशिश हो रही है।
सत्ता में रहने के बाद भी कांग्रेस पिछड़ गई और भाजपा का चुनाव मैनेजमेंट सफल रहा। भाजपा इन परिणामों को अपनी बड़ी कामयाबी इसलिए भी बता रही है कि जब यह चुनाव हुए और परिणाम आए तब देश में किसान आंदोलन चल रहा था और कांग्रेसी भी इन कृषि बिलों के खिलाफ है।
इसलिए जीती भाजपा
जमीनी स्तर पर काम जारी रखा
अपने नेताओं को गांव में भेजा
कार्यकर्ताओं से संपर्क बनाए रखा
स्पष्ट नीतियों के साथ मतदाताओं के बीच गए।
इसलिए हारी कांग्रेस
मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों में देरी से असंतोष
विधायक और बड़े नेता गांव में नहीं गए
जयपुर में बैठकर ई टिकट बांट दिए गए
सरकार अपने कामों को जनता तक नहीं पहुंचा पाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here